Wednesday, May 29, 2024

ऐसे ऐसे

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_img

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6

छुट्टियों के दौरान मोहन ने पूरा मजा लिया, लेकिन अपना होमवर्क भूल गया। अब स्कूल के पहले दिन उसे बहुत घबराहट हुई। पकड़े नहीं जाने के लिए, उसने पेट दर्द का नाटक किया। वो अपने पेट दर्द को समझाने के लिए बार-बार “ऐसे-ऐसे” शब्दों का इस्तेमाल करता था। स्थिति गंभीर दिखाने के लिए उसने और भी नाटक किया।

परेशान माता-पिता वैद्यजी को बुलाते हैं। वैद्यजी नाड़ी देखकर वायु बढ़ने का निदान देते हैं। लेकिन दर्द कम न होने पर डॉक्टर को बुलाया जाता है। हर डॉक्टर को मोहन अलग-अलग लक्षण बता देता है, इसलिए हर कोई अलग बीमारी पकड़ लेता है। सब उपचार बेकार साबित होते हैं।

इस दौरान मास्टरजी मिलने आते हैं। मोहन उन्हें भी बीमारी का बहाना बनाता है। पर मास्टरजी होशियार हैं। वो मोहन को समझते हैं कि असली समस्या अधूरा होमवर्क है। वे मोहन को सच बताने के लिए प्रेरित करते हैं।

मास्टरजी की बातों से शर्मिंदा होकर मोहन अपना नाटक स्वीकार करता है। वो माफी मांगता है और दो दिन में होमवर्क पूरा करने का वादा करता है। कहानी का मजेदार मोड़ तब आता है जब मोहन के पिता गलती से दवा की बोतल तोड़ देते हैं, जिससे सभी हंसने लगते हैं।

सीख:

  • ईमानदारी और जिम्मेदारी से रहना ज़रूरी है।
  • अपने काम टालने के नुकसान हो सकते हैं।
  • गलती स्वीकार कर सुधार का मौका लें।
  • स्पष्ट रूप से बात करें और हर किसी को एक जैसी जानकारी दें।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6

प्रश्न 1. एकांकी से

1. “ऐसेऐसेकहानी में मोहन ने क्या किया?

उत्तर: मोहन ने स्कूल जाना टालने के लिए पेट दर्द का नाटक किया और उसे समझाने के लिए “ऐसे-ऐसे” शब्दों का इस्तेमाल किया।

2. मोहन के नाटक को क्या हुआ?

उत्तर: डॉक्टरों ने गलत बीमारियों का पता लगाया और कोई भी इलाज काम नहीं आया। अंत में, मास्टरजी ने सच का पता लगा लिया और मोहन को अपना नाटक स्वीकार करना पड़ा।

3. कहानी में मास्टरजी की भूमिका क्या थी?

उत्तर: मास्टरजी ने मोहन के नाटक को पकड़ लिया और उसे सच बताने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने समझाया कि ईमानदारी और जिम्मेदारी महत्वपूर्ण हैं।

4. हमें इस कहानी से क्या सीख मिलती है?

उत्तर: कहानी हमें ईमानदार रहने और जिम्मेदारी निभाने का पाठ पढ़ाती है। साथ ही, यह बताती है कि गलत तरीकों से काम टालने से कुछ हासिल नहीं होता और सच सामने आ ही जाता है। स्पष्ट बातचीत और सही समय पर अपनी गलती स्वीकारना महत्वपूर्ण है।

5. आपकोऐसेऐसेकहानी कैसी लगी? क्यों?

उत्तर: मुझे “ऐसे-ऐसे” कहानी बहुत अच्छी लगी। कहानी में हास्य और शिक्षा का मिश्रण है जो इसे मनोरंजक और ज्ञानवर्धक बनाता है। मोहन के चरित्र और उसके नाटक से हमें हंसी आती है, जबकि कहानी का अंत हमें महत्वपूर्ण सबक सिखाता है।

मुझे कहानी में मास्टरजी का चरित्र बहुत पसंद आया। वे बुद्धिमान और दयालु हैं, जो मोहन को गलत रास्ते से हटाकर सही रास्ता दिखाते हैं। कहानी में डॉक्टरों के भ्रमित होने का दृश्य भी हास्यपूर्ण है।

कहानी का संदेश बहुत महत्वपूर्ण है। यह हमें सिखाता है कि हमें ईमानदार और जिम्मेदार रहना चाहिए। गलत तरीकों से काम टालने से कुछ हासिल नहीं होता और सच सामने आ ही जाता है। स्पष्ट बातचीत और सही समय पर अपनी गलती स्वीकार करना महत्वपूर्ण है।

कुल मिलाकर, “ऐसे-ऐसे” एक अच्छी कहानी है जो हमें महत्वपूर्ण सबक सिखाती है. यह बच्चों और बड़ों दोनों के लिए मनोरंजक है।

प्रश्न 2. अनुमान और कल्पना

1. यदि मोहन ने पेट दर्द का नाटक नहीं किया होता और पहले दिन स्कूल गया होता, तो क्या होता

उत्तर: यदि मोहन ने पेट दर्द का नाटक नहीं किया होता और पहले दिन स्कूल गया होता, तो उसे अधूरा होमवर्क जमा करना पड़ता, जिससे डाँट पड़ सकती थी। लेकिन, जल्दी शुरू करने से होमवर्क अच्छा भी बन सकता था, और उसे आगे का काम आसान लगता।

2. मान लीजिए कि मास्टरजी मोहन के घर नहीं मिलते, तो क्या होता?

उत्तर: यदि मास्टरजी मोहन के घर नहीं मिलते, तो मोहन अपने नाटक को कुछ और दिन जारी रख सकता था, लेकिन आखिरकार सच सामने आ ही जाता। हो सकता है उसे सजा मिलती या माता-पिता और मास्टरजी से डाँट पड़ती।

3. यदि मोहन ने अपना होमवर्क समय पर पूरा कर लिया होता, तो क्या होता?

उत्तर: यदि मोहन ने अपना होमवर्क समय पर पूरा कर लिया होता, तो उसे नाटक करने की जरूरत नहीं पड़ती और वह स्कूल जाकर मस्ती कर सकता था। उसे चिंता करने की जरूरत नहीं होती और समय बचाकर अन्य गतिविधियों में भी भाग ले सकता था।

4. कहानी का मुख्य संदेश क्या है?

उत्तर: कहानी का मुख्य संदेश है कि ईमानदारी और जिम्मेदारी महत्वपूर्ण हैं। गलत तरीकों से काम टालने से कुछ हासिल नहीं होता और सच सामने आ ही जाता है। स्पष्ट बातचीत और सही समय पर अपनी गलती स्वीकार करना जरूरी है।

प्रश्न 3. भाषा की बात

1. कहानी मेंऐसेऐसेशब्द का क्या महत्व है?

उत्तर: कहानी में “ऐसे-ऐसे” शब्द का उपयोग मोहन द्वारा अपने पेट दर्द का वर्णन करने के लिए किया गया है। यह शब्द दर्शाता है कि मोहन दर्द का सही ढंग से वर्णन नहीं कर पा रहा है, जिसके कारण डॉक्टरों को भ्रमित करता है।

2. कहानी में विभिन्न पात्रों द्वारा इस्तेमाल किए गए भाषा शैली में क्या अंतर है?

उत्तर: कहानी में विभिन्न पात्रों द्वारा इस्तेमाल किए गए भाषा शैली में अंतर उनके चरित्र और सामाजिक स्थिति को दर्शाता है। 

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 6

FAQ’s

कक्षा 6 हिंदी अध्याय 6 के लिए NCERT समाधान छात्रों की कैसे मदद करते हैं?

class 6 hindi chapter 6 के लिए NCERT समाधान विस्तृत व्याख्या और सभी पाठ्यपुस्तक प्रश्नों के उत्तर प्रदान करते हैं, जिससे छात्रों को अध्याय की सामग्री को अच्छी तरह से समझने, उनकी भाषा कौशल में सुधार करने और परीक्षाओं की तैयारी में मदद मिलती है।

कक्षा 6 हिंदी अध्याय 6 में कौन-कौन से मुख्य बिंदु शामिल हैं?

class 6 hindi chapter 6 के मुख्य बिंदुओं में बीमारी का बहाना बनाना शामिल हैं। ये अध्याय के मुख्य संदेश और विषयों को समझने में मदद करते हैं।

कक्षा 6 हिंदी अध्याय 6 के मुख्य पात्र कौन-कौन से हैं?

class 6 hindi chapter 6 के मुख्य पात्र मोहन हैं। उनकी भूमिकाएँ और आपसी संबंध अध्याय की कहानी और विषयों को समझने के लिए महत्वपूर्ण हैं।

मुझे कक्षा 6 हिंदी अध्याय 6 के लिए NCERT समाधान कहाँ मिल सकते हैं?

आप class 6 hindi chapter 6 के NCERT समाधान NCERT पाठ्यपुस्तकों में, ऑनलाइन शैक्षिक प्लेटफार्मों पर education 85 , और विभिन्न शैक्षिक वेबसाइटों पर पा सकते हैं, जो छात्रों के लिए मुफ्त और सुलभ अध्ययन सामग्री प्रदान करते हैं।

कक्षा 6 हिंदी अध्याय 6 में किस प्रकार के प्रश्न परीक्षा में पूछे जा सकते हैं?

class 6 hindi chapter 6 में परीक्षा में यहाँ प्रश्न प्रकार डालें, जैसे लघु उत्तर, दीर्घ उत्तर, सारांश, पात्र विश्लेषण, आदि प्रकार के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। ये प्रश्न आपकी समझ और लेखन कौशल की परीक्षा लेते हैं।

कक्षा 6 हिंदी अध्याय 6 के अध्ययन के लिए क्या अतिरिक्त संसाधन उपयोगी हो सकते हैं?

class 6 hindi chapter 6 के अध्ययन के लिए अतिरिक्त संसाधन जैसे ऑनलाइन वीडियो लेक्चर, शैक्षिक ऐप्स, अभ्यास कार्यपत्रक आदि उपयोगी हो सकते हैं। ये संसाधन अध्याय को बेहतर समझने और अभ्यास करने में मदद करेंगे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_imgspot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here