Wednesday, May 29, 2024

जो देखकर भी नहीं देखते

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_img

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 9

कहानी का सारांश:

पाठ “जो देखकर भी नहीं देखते” में लेखक ने समाज की उस प्रवृत्ति को उजागर किया है, जिसमें लोग अपने आसपास की चीजों और घटनाओं को देखकर भी अनदेखा कर देते हैं। यह पाठ हमें अपने चारों ओर की दुनिया को गहराई से समझने और उसमें निहित समस्याओं और सौंदर्य को देखने की प्रेरणा देता है।

मुख्य विषय:
इस पाठ का मुख्य विषय है लोगों की उन चीजों को अनदेखा करने की प्रवृत्ति जो वे रोजमर्रा की जिंदगी में देखते हैं। लेखक का उद्देश्य पाठकों को इस बारे में जागरूक करना है कि हमें अपने आसपास की चीजों को ध्यान से देखना चाहिए और उनकी महत्ता को समझना चाहिए।

प्रस्तावना:
लेखक ने प्रस्तावना में बताया है कि हम अक्सर अपनी दिनचर्या में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि हमें अपने चारों ओर की चीजों का ध्यान ही नहीं रहता। हम देखते तो हैं, लेकिन वास्तव में समझते नहीं हैं कि हमारे चारों ओर क्या हो रहा है।

उदाहरण:
लेखक ने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से बताया है कि कैसे लोग रोजमर्रा की जिंदगी में दूसरों की समस्याओं और कठिनाइयों को अनदेखा करते हैं। इनमें शामिल हैं:

  1. सड़क पर बैठे भिखारी: हम अक्सर सड़क पर भिखारियों को देखते हैं, लेकिन उनके जीवन की कठिनाइयों को समझने की कोशिश नहीं करते।
  2. पर्यावरण का नुकसान: हम प्रदूषण और पर्यावरण की समस्याओं को देखते हैं, लेकिन उनके समाधान के लिए कुछ नहीं करते।
  3. अन्य सामाजिक समस्याएं: समाज में मौजूद कई समस्याएं जैसे गरीबी, असमानता, और अन्य कठिनाइयों को देखकर भी लोग अनदेखा कर देते हैं।

लेखक का संदेश:
लेखक का मुख्य संदेश है कि हमें अपनी संवेदनशीलता और सहानुभूति को बढ़ाना चाहिए। हमें न केवल अपनी आँखों से देखना चाहिए, बल्कि दिल और दिमाग से भी समझना चाहिए। सच्चे अर्थों में देखने का मतलब केवल आँखों से देखना नहीं है, बल्कि दिल और दिमाग से समझना भी है।

निष्कर्ष:
अंत में, यह पाठ हमें सिखाता है कि हमें अपने चारों ओर की दुनिया को ध्यान से देखना चाहिए और उनकी महत्ता को समझना चाहिए। हमें उन चीजों को भी देखने की कोशिश करनी चाहिए जिन्हें आमतौर पर लोग अनदेखा कर देते हैं। इससे न केवल हमारी समझ बढ़ेगी बल्कि हम समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में भी सक्षम होंगे।

इस प्रकार, “जो देखकर भी नहीं देखते” पाठ हमें अधिक जागरूक, संवेदनशील और सहानुभूतिपूर्ण बनने की प्रेरणा देता है। यह हमें हमारे आसपास की दुनिया को गहराई से देखने और समझने की सीख देता है।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 9

प्रश्न 1. निबंध से

प्रश्न 1. ‘जिन लोगों के पास आँखें हैं, वे सचमुच बहुत कम देखते हैं’- हेलेन केलर को ऐसा क्यों लगता था ?

उत्तर:  1. सतही देखने की प्रवृत्ति: हेलेन केलर ने देखा कि ज़्यादातर लोग दृष्टि पर निर्भर रहते हुए भी प्रकृति और जीवन की गहराई को नहीं देख पाते। वे केवल सतही रूप से चीजों को देखते हैं और उनके सार को समझने में विफल रहते हैं।

2. इंद्रियों का सीमित उपयोग: हेलेन केलर, दृष्टिहीन होने के बावजूद, स्पर्श, गंध और ध्वनि की इंद्रियों का उपयोग करके प्रकृति का गहन अनुभव करती थीं। उन्होंने महसूस किया कि आंखों पर निर्भर रहने वाले लोग अपनी अन्य इंद्रियों का उपयोग नहीं करते हैं, जिसके कारण वे अनुभवों की एक पूरी दुनिया से वंचित रह जाते हैं।

3. कल्पनाशीलता और संवेदना की कमी: हेलेन केलर ने महसूस किया कि दृष्टि वाले लोगों में कल्पनाशीलता और संवेदना की कमी होती है। वे केवल वही देख पाते हैं जो उनके सामने होता है, जबकि दृष्टिहीन लोग अपनी कल्पना और अन्य इंद्रियों का उपयोग करके चीजों को अधिक गहराई से अनुभव कर सकते हैं।

4. कृतज्ञता की कमी: हेलेन केलर ने देखा कि दृष्टि वाले लोग अपनी दृष्टि के लिए कृतज्ञ नहीं होते हैं। वे इसे एक सामान्य चीज मानते हैं और इसका उपयोग प्रकृति और जीवन की सुंदरता को देखने के लिए नहीं करते हैं।

2. प्रकृति का जादू’ किसे कहा गया है?

उत्तर:  “जो देखकर भी नहीं देखते” निबंध में, “प्रकृति का जादू” को निम्नलिखित के रूप में वर्णित किया गया है:

1. प्रकृति के परिवर्तन: दिन और रात, ऋतुओं का परिवर्तन, मौसम में बदलाव, प्रकृति के अद्भुत परिवर्तनों को दर्शाते हैं।

2. प्रकृति की सुंदरता: फूलों की खुशबू, पक्षियों का मधुर गायन, हवा का स्पर्श, सूर्य का प्रकाश, प्रकृति की अद्भुत सुंदरता को दर्शाते हैं।

3. प्रकृति की विविधता: विभिन्न प्रकार के पेड़, पौधे, जानवर, और जीव-जंतु प्रकृति की विविधता को दर्शाते हैं।

4. प्रकृति का रहस्य: प्रकृति में अनेक रहस्य छिपे हुए हैं, जो मनुष्य को सदैव आकर्षित करते हैं।

5. प्रकृति का संतुलन: प्रकृति में सभी जीवों का एक संतुलन होता है, जो जीवन को बनाए रखता है।

निबंध में हेलेन केलर का कहना है कि जो लोग केवल आँखों से देखते हैं, वे प्रकृति का जादू नहीं देख पाते। वे केवल सतही रूप से चीजों को देखते हैं और प्रकृति की गहराई को नहीं समझ पाते।**

लेकिन जो लोग अपनी इंद्रियों का पूर्ण उपयोग करते हैं, वे प्रकृति का जादू अनुभव कर सकते हैं। वे प्रकृति की सुंदरता, विविधता, और रहस्यों को समझ सकते हैं।**

3. ‘कुछ खास तो नहीं’ – हेलेन की मित्र ने यह जवाब किस मौके पर दिया और यह सुनकर हेलेन को आश्चर्य क्यों नहीं हुआ?

उत्तर:  हेलेन की मित्र ने “कुछ खास तो नहीं” यह जवाब तब दिया जब हेलेन ने उनसे जंगल की सैर के बारे में पूछा। हेलेन को आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि उनकी मित्र अक्सर इस तरह के उत्तर देती थीं।

यह जवाब किस मौके पर दिया गया:

हेलेन केलर और उनकी मित्र जंगल में घूमने गई थीं। वापस आने पर हेलेन ने अपनी मित्र से पूछा कि “आपने जंगल में क्या-क्या देखा?”

यह जवाब सुनकर हेलेन को आश्चर्य क्यों नहीं हुआ:

हेलेन को अपनी मित्र की प्रतिक्रिया पर आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि उन्हें पहले से ही पता था कि उनकी मित्र प्रकृति के प्रति बहुत संवेदनशील नहीं हैं। वे केवल सतही रूप से चीजों को देखती हैं और प्रकृति की गहराई को नहीं समझ पाती हैं।

हेलेन केलर का दृष्टिकोण:

हेलेन दृष्टिहीन होने के बावजूद प्रकृति का गहरा अनुभव करती हैं। वे स्पर्श, गंध और ध्वनि के माध्यम से प्रकृति की सुंदरता को देख सकती हैं। उनका मानना ​​है कि जो लोग केवल आंखों से देखते हैं, वे वास्तव में बहुत कम देखते हैं।

4.  हेलेन केलर प्रकृति की किन चीज़ों को छूकर और सुनकर पहचान लेती थीं? पाठ के आधार पर इसका उत्तर लिखो ।

उत्तर:  हेलेन केलर प्रकृति की अनेक चीज़ों को छूकर और सुनकर पहचान लेती थीं। पाठ के आधार पर, इनमें से कुछ चीजें इस प्रकार हैं:

स्पर्श द्वारा:

  • भोज-पत्र के पेड़ की चिकनी छाल
  • चीड़ की खुरदरी छाल
  • टहनियों में नई कलियाँ
  • फूलों की पंखुड़ियों की मखमली बनावट
  • झरने के पानी का ठंडापन
  • घास की नरम बनावट
  • सूरज की किरणों की गर्माहट
  • हवा का स्पर्श

ध्वनि द्वारा:

  • पक्षियों के मधुर गीत
  • हवा की सरसराहट
  • पत्तियों की सरसराहट
  • झरने का कल-कल
  • नदी का बहता पानी
  • कीटों का गुंजन
  • जानवरों की आवाज

गंध द्वारा:

  • फूलों की खुशबू
  • घास की खुशबू
  • मिट्टी की खुशबू
  • बारिश की खुशबू
  • पेड़ों की खुशबू

हेलेन केलर ने अपनी अन्य इंद्रियों का उपयोग करके प्रकृति का गहरा अनुभव किया। उन्होंने महसूस किया कि दृष्टिहीन होने का मतलब यह नहीं है कि आप प्रकृति का आनंद नहीं ले सकते।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 9

FAQ’s

Class 6 Hindi Chapter 9 का मुख्य विषय क्या है?

Class 6 Hindi Chapter 9 का मुख्य विषय है लोगों की उन चीजों को अनदेखा करने की प्रवृत्ति जो वे रोजमर्रा की जिंदगी में देखते हैं। यह पाठ हमें अधिक जागरूक और संवेदनशील बनने के लिए प्रेरित करता है।

Class 6 Hindi Chapter 9 जो देखकर भी नहीं देखते का संदेश क्या है?

Class 6 Hindi Chapter 9 जो देखकर भी नहीं देखते” का संदेश यह है कि हमें अपने आसपास की चीजों और लोगों पर ध्यान देना चाहिए और उनकी भावनाओं और स्थितियों के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। यह पाठ हमें अधिक समझदार और दयालु बनने की सीख देता है।

Class 6 Hindi Chapter 9 में लेखक ने किस प्रकार की घटनाओं का वर्णन किया है?

Class 6 Hindi Chapter 9 में लेखक ने उन घटनाओं का वर्णन किया है जिन्हें हम रोज देखते हैं लेकिन अनदेखा कर देते हैं, जैसे कि गरीब और जरूरतमंद लोगों की स्थिति, पर्यावरण का नुकसान आदि।

Class 6 Hindi Chapter 9 से हमें क्या सीख मिलती है?

Class 6 Hindi Chapter 9 से हमें यह सीख मिलती है कि हमें अपने चारों ओर की दुनिया को अधिक ध्यान और संवेदनशीलता के साथ देखना चाहिए और जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आना चाहिए।

Class 6 Hindi Chapter 9 को प्रभावी ढंग से कैसे पढ़ा जाए?

Class 6 Hindi Chapter 9 को प्रभावी ढंग से पढ़ने के लिए पाठ को ध्यान से पढ़ें, मुख्य बिंदुओं पर ध्यान दें और अध्याय के अंत में दिए गए प्रश्नों का उत्तर लिखने का अभ्यास करें। इसके अलावा, पाठ में वर्णित संदेश को समझने की कोशिश करें।

Class 6 Hindi Chapter 9 के लिए NCERT Solutions कहाँ मिल सकते हैं?

Class 6 Hindi Chapter 9 के लिए NCERT Solutions विभिन्न शैक्षणिक वेबसाइटों education85 पर उपलब्ध हैं। ये समाधान आपको पाठ को बेहतर ढंग से समझने और परीक्षा की तैयारी में मदद करेंगे।

Class 6 Hindi Chapter 9 पाठ में किस तरह की घटनाएँ वर्णित हैं?

Class 6 Hindi Chapter 9 पाठ में ऐसी घटनाएँ वर्णित हैं जिनमें लोग अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में दूसरों की समस्याओं और कठिनाइयों को अनदेखा करते हैं, जैसे कि सड़क पर बैठे भिखारी, प्रदूषण आदि।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_imgspot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here